संक्रमण की आशंका में TI अस्पताल के आइसोलेशन में, पूरे थाने को किया सैनेटाइज

News Desk

इंदौर

इंदौर में कोरोना की भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है यहां अब तक 3 मौत हो चुकी है और अब तक 25 पॉजिटिव लोगो का इलाज जारी है वही दूसरी और 13 संदेही लोगो की जांच को ICMR के निर्देश के मुताबिक दोबारा जांच की जा रही है।

वही शहर के 21 इलाके कंटेन्मेंट घोषित कर दिए गए है। वही अब कोरोना के निशाने पर इंदौर पुलिस भी आ चुकी है इसी का नतीजा है कि शहर के एक टीआई को पहले तो 4 दिन तक इलाज के लिए निजी अस्पताल में रखा गया और अब उन्हें कोरोना के शक के चलते इंदौर सांवेर रोड़ स्थित अरविंदो अस्पताल में रैफर कर दिया है जहां उन्हें आइसोलेट कर दिया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक टीआई बीते दिनों एक आंदोलन के दौरान ड्यूटी पर तैनात थे उसी दौरान उनकी तबीयत बिगड़ गई थी ऐसे में उन्होंने शुरुआत में सर्दी, खांसी जैसी मामूली बीमारी समझा लेकिन बाद में उन्हें इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। कोरोना के संकेत दिखने के बाद टीआई को अरविंदो अस्पताल में रैफर किया गया वही उनकी पत्नी को भी स्वास्थ्य विभाग ने क्वारंटाइन कर दिया। इधर, टीआई के बीमार होने के बाद सहयोगी और थाने पदस्थ अन्य कर्मचारी घबराएं हुए है।

 

Next Post

Coronavirus की चपेट में आया दो करोड़ विद्यार्थियों का शैक्षिक सत्र

 पटना  लॉकडाउन की वजह से शैक्षिक सत्र 2020-21 के लिए वार्षिक कार्य योजना एवं बजट सूत्रण के लिए तय अप्रेजल कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है। 3 से 8 अप्रैल तक सभी जिलों के लिए राज्य स्तर पर बजट अप्रेजल हेतु तिथि निर्धारित की गई थी। सोमवार को बिहार […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।