MSP पर गेहूं की खरीदी इंदौर-उज्जैन संभाग में 22 मार्च से शुरू होगी

News Desk

भोपाल
 प्रदेश में इस बार भी स्वसहायता समूह और कृषक उत्पादक समूहों के माध्यम से गेहूं की खरीद कराई जएगी। इंदौर-उज्जैन संभाग में न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीद 22 मार्च और बाकी संभागों में एक अप्रैल से शुरू होगी। इस बार 125 लाख टन खरीद की संभावना है। अब तक 4.13 लाख किसान पंजीयन करा चुके हैं। वहीं चना, मसूर और सरसों की खरीद 15 मार्च से प्रारंभ की जाएगी।

अनाज खरीद को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को मंत्रालय में समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि किसानों से समय पर उपज खरीदें और भुगतान में भी विलंब न हो। किसी का भी भुगतान रुका तो दोषी पर कार्रवाई होगी। बोरे, परिवहन और भंडारण की पुख्ता व्यवस्था रहे। जिन सहकारी संस्थाओं की विश्वसनीयता संदिग्ध हो, उन्हें उपार्जन का काम न दिया जाए।

अधिकारियों ने बताया कि 1,975 रुपये प्रति क्विंटल पर गेहूं की खरीद 22 मार्च से एक अप्रैल तक की जाएगी। इसके लिए 4,529 केंद्र बनाए जा रहे हैं। किसानों का पंजीयन 20 फरवरी तक होगा। पिछली बार 15.81 लाख किसानों से 129 लाख टन से ज्यादा गेहूं खरीदा गया था। इस बार 20 लाख किसानों के पंजीयन का अनुमान है। उपार्जन के लिए सिकमी (किराये पर जमीन) व बटाइदारों को अधिकतम पांच हेक्टेयर रकबा के पंजीयन की सुविधा दी जा रही है।

Next Post

ब्रेकिंग: राजधानी के पॉश कॉलोनी में बच्चियों के अपहरण की कोशिश...पुलिस की तत्परता से बच्चा पकड़ईया गिरफ्तार...

रायपुर राजधानी के पॉश कॉलोनी रहेजा रेसीडेंसी में सुरक्षा को धता बता कर कॉलोनी में घुस कर खेल रही बच्चियों का अपहरण करने की कोशिश कर फरार होने वाला आरोपी को आज खम्हरडीह पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।राजधानी रायपुर में खम्हरडीह थाना क्षेत्र के रहेजा रेजिडेंशियल में बच्चा पकड़ने […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।