राज्यपाल की मंजूरी, खुलेंगे इंदौर में श्री अरविंदो विवि और जबलपुर में महाकौशल विवि

News Desk

इंदौर
इंदौर में श्री अरविंदो विश्वविद्यालय और जबलपुर में महाकौशल विश्वविद्यालय जल्द ही शुरु होंगे। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने  इन दोनो निजी विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। इंदौर के श्री अरविंदो विश्वविद्यालय में मंजूश्री भंडारी को पहला चांसलर बनाया जाएगा।
 
ये दोनो निजी विश्वविद्यालय शुरु करने के लिए उच्च शिक्षा विभाग ने पहले मध्यप्रदेश निजी विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक लाने वाला था लेकिन विधानसभा का सत्र नहीं होंने के कारण अब इसे अध्यादेश के रुप में कैबिनेट की मंजूरी के बाद राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के पास मंजूरी के लिए भेजा गया था। उन्होंने इसकी मंजूरी दे दी है। दमोह में एकलव्य विश्वविद्यालय की स्थापना भी की जाना है। फिलहाल इंदौर और जबलपुर के निजी विश्वविद्यालयों के स्थापना संबंधी प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है।

इंदौर मे इंदौर-उज्जैन  स्टेट हाईवे एमआर 10 के पास सांवेर रोडपर श्री अरविंदो  विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी। श्री अरविंदो इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल साइंसेस इंदौर इस विश्वविद्यालय को स्पोंसर करेगी। मध्यप्रदेश सोसायटी रजिस्ट्री अधिनियम के तहत इसका पंजीयन किया गया है। इस विश्वविद्यालय का अधिकार क्षेत्र संपूर्ण मध्यप्रदेश होगा। वहीं आरएस एजुकेशनल सोसायटी जबलपुर द्वारा महाकौशल विश्वविद्यालय जबलपुर की स्थापना की जाएगी। यह विश्वविद्यालय महाकौशल विश्वविद्यालय ग्राम ऐठाखेड़ा चरगवन रोड पोस्ट तिलवारा जबलपुर में रहेगा। इसका कार्यक्षेत्र भी संपूर्ण मध्यप्रदेश रहेगा।

इंदौर में निजी क्षेत्र में श्री अरविंदो विश्वविद्यालय के शुरु होंने से प्रदेश में कई मेडिकल कॉलेज शुरु हो सकेंगे। इससे प्रदेश में अस्पतालों में चल रही चिकित्सकों और अन्य विशेषज्ञों की कमी पूरी हो सकेगी।  प्रदेश के युवाओं को प्रदेश के भीतर ही  अध्ययन की सुविधा मिल सकेगी। इसी तरह जबलपुर में महाकौशल विश्वविद्यालय के शुरु होंने से नये महाविद्यालय शुरु हो सकेंगे जिनमें रोजगार की संभावनाएं बढ़ेगी।

Next Post

लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने नई दिल्ली में निर्माणाधीन छत्तीसगढ़ सदन के प्रगति की जानकारी ली...काम में तेजी लाने अधिकारियों को दिए निर्देश...

रायपुर लोक निर्माण मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने आज नई दिल्ली के द्वारका के सेक्टर 13 में बन रहे नए छत्तीसगढ़ सदन और भवनों का निरीक्षण कर निर्माण कार्यों की प्रगति का जायजा लिया। उन्होने अधिकारियों को समय सीमा का ध्यान रखते हुये निर्माण कार्य मेंतेजी लाने के निर्देश दिये। […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।