रबी उपार्जन में 41 हजार किसानों के खातों में सीधे पहुँचे 258 करोड़

News Desk

भोपाल

प्रदेश में इस वर्ष रबी उपार्जन में आज तक चार लाख 75 हजार किसानों से 23 लाख मीट्रिक टन गेहूँ की समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा चुकी है। खरीदी के लिये 1360 करोड़ रूपये की राशि भुगतान के लिये स्वीकृत हुई है, जिसमें से 258 करोड़ रूपये 41 हजार किसानों के खातों में भुगतान कर दिया गया है। कुल उपार्जित गेहूँ में से 17 लाख 50 हजार मीट्रिक टन का गोदामों में सुरक्षित परिवहन किया जा चुका है।

प्रथम 14 दिन में हुई खरीदी

प्रमुख सचिव खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्री शिव शेखर शुक्ला ने बताया है रबी उपार्जन के प्रथम दिन 15 अप्रैल को 2766 किसानों द्वारा 4954 मीट्रिक टन गेहूँ का विक्रय किया गया। दूसरे दिन 16 अप्रैल को 6738 किसानों द्वारा 12 हजार 824 मीट्रिक टन गेहूँ का समर्थन मूल्य पर विक्रय किया गया। तीसरे दिन 17 अप्रैल को 13 हजार 720 किसानों द्वारा 25 हजार 495 मीट्रिक टन गेहूँ का समर्थन मूल्य पर विक्रय किया गया। चौथे दिन 18 अप्रैल को 25 हजार 792 किसानों से 60 हजार मीट्रिक टन, पाँचवे दिन 19 अप्रैल को 31 हजार किसानों से 89 हजार 416 मीट्रिक टन, छठवे दिन 20 अप्रैल को 30 हजार 696 किसानों से एक लाख 15 हजार 691 मीट्रिक टन, सातवे दिन 21 अप्रैल को 47 हजार 251 किसानों से दो लाख 52 हजार 808 मीट्रिक टन, आठवें दिन 22 अप्रैल को 43 हजार 105 किसानों से दो लाख 36 हजार 936 मीट्रिक टन, नवें दिन 23 अप्रैल को 48 हजार 576 किसानों से दो लाख 48 हजार 264 मीट्रिक टन, दसवें दिन 24 अप्रैल को 57 हजार 195 किसानों से दो लाख 79 हजार 879 मीट्रिक टन, 11वें दिन 25 अप्रैल को 51 हजार 280 किसानों से दो लाख 58 हजार 569 मीट्रिक टन, 12वें दिन 26 अप्रैल को 19 हजार 667 किसानों से एक लाख 26 हजार 178 मीट्रिक टन, 13वें दिन 27 अप्रैल को 48 हजार 212 किसानों से दो लाख 63 हजार 628 मीट्रिक टन तथा 14वें दिन 28 अप्रैल को लगभग 50 हजार किसानों से तीन लाख 25 हजार मीट्रिक टन गेहूँ खरीद गया।

Next Post

बैंक कर्जमाफी के आरोप पर जावेड़कर बोले- चिदंबरम से ट्यूशन लें राहुल

नई दिल्ली देश के बैंकों ने 50 बड़े विलफुल डिफाल्टर्स का 68,607 करोड़ रुपए का कर्ज बट्टे खाते में डाल दिया है. इसको लेकर मोदी सरकार पर कांग्रेस हमलावर है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज कांग्रेस के आरोपों का जवाब दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।