महाअभियान में प्रदेश में वैक्सीनेशन का आंकड़ा 10 लाख के पार -CM शिवराज

News Desk

भोपाल
 कोरोना से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर चलाए जा रहे वैक्सीनेशन अभियान में मध्यप्रदेश ने उल्लेखनीय सफलता प्राप्त की है। सोमवार शाम 4.30 बजे तक मध्य प्रदेश में 10 लाख लोगों को वैक्सीन लगाने का आंकड़ा छू लिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसकी घोषणा की है।

तीन दिन के वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए प्रदेश सरकार ने व्यापक स्तर पर तैयारी की थी। प्रदेश भर में 7000 के लगभग वैक्सीनेशन सेंटर के साथ साथ पर्याप्त मेडिकल व पैरामेडिकल स्टाफ, सरकारी अमला, स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ साथ सभी राजनीतिक दलों व आम जनता ने भी इस मुहिम को भारी समर्थन दिया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आह्वान पर सोशल मीडिया के माध्यम से तो इस अभियान में मानों तूफानी तेजी थी। सरकार का लक्ष्य था कि पहले दिन यानी 21 जून को इस अभियान में दस लाख लोगों को वैक्सीनेट किया जाएगा। शाम 4.30 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधनी में घोषणा की कि प्रदेश सरकार ने इस आंकड़े को छू लिया है और अब तक 10 लाख के ऊपर लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। शिवराज खुद वैक्सीनेशन कार्यक्रम के लिए सोमवार को कई स्थानों पर गए और उन्होंने लोगों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित किया।

    अगर मेरा मध्यप्रदेश ठान लें,तो दुनिया के किसी भी लक्ष्य को हम प्राप्त कर सकते हैं। मुझे बहुत खुशी हो रही है कि आज का हमारा 10 लाख #COVID19 वैक्सीन के डोज़ लगाने का लक्ष्य, इसे हम पार कर चुके है। शाम 5 बजे तक 12,12,439 डोज़ेज़ #MPVaccinationMahaAbhiyan के अंतर्गत लगाए जा चुके हैं।

    — Shivraj Singh Chouhan (@ChouhanShivraj) June 21, 2021

बुधनी के ग्राम सिरौली में उन्होंने लोगों से कहा कि उनकी जिम्मेदारी प्रदेश की जनता की जान बचाने की है और वे इसमें कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने उदाहरण देकर बताया कि जिन जिन देशों ने ज्यादा जनसंख्या के वैक्सीन लगवाए हैं वहां अब कोरोना धीरे धीरे जा रहा है। मध्य प्रदेश में अभी मंगलवार और बुधवार को भी अभियान चलेगा और उसके बाद जुलाई महीने में तीन दिन एक बार फिर यह महा अभियान चलाया जाएगा। सरकार को पूरी उम्मीद है कि उसके अभियान के चलते प्रदेश पूरी तरह से किल कोरोना कर सकेगा।

Next Post

40 लाख की आंसरशीट रद्दी के भाव, BU को लगेगा चूना

भोपाल बरकतउल्ला विश्वविद्यालय ने दो साल पहले करीब चालीस लाख की आंसरशीट खरीद सेंट्रल लाइब्रेरी में रख दी हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए बीयू अपनी सभी परीक्षाएं ओपन बुक से कराएगा। इसके चलते उक्त आंसरशीट का उपयोग नहीं हो सकता। वर्तमान में चल रही ओपन बुक परीक्षाओं में उनका […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।