मंत्री प्रेमसिंह पटेल नल-जल योजना के कार्य का किया निरक्षण

News Desk

बड़वानी
 प्रदेश के कैबिनेट मंत्री प्रेमसिंह पटेल ने सोमवार को बड़वानी  के ग्राम चिकल्यामलान एवं बरूखोदरा पहुंचकर पीएचई विभाग द्वारा नल-जल योजना के तहत करवाये जा रहे कार्यों का आकस्मिक निरीक्षण  किया। इस दौरान उन्होंने डाले हुए पाइप की गहराई की भी जांच अपने समक्ष पुनः गड्डा करवाकर देखा। इस दौरान पाइप लाइन निर्धारित गहराई की अपेक्षा सतह पर पाई जाने पर उन्होंने अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए मौके पर ही उपस्थित कलेक्टरशिवराजसिंह वर्मा को पीएचई विभाग द्वारा करवाये जा रहे समस्त कार्यो की विस्तृत जांच करवाकर दोषियों पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिये है।

कैबिनेट मंत्री ने मौके पर उपस्थित पीएचई विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को भी आदेशित किया कि वे आगे से स्वयं कार्य का निरीक्षण करेंगे। जिससे ग्रामीणों को पेयजल उपलब्ध कराने की यह महत्ती योजना उपयोगी सिद्ध हो सके। इस दौरान कलेक्टर शिवराजसिंह वर्मा ने भी ग्रामीणों से चर्चा कर विस्तृत जानकारी प्राप्त कर, मौके पर उपस्थित पीएचई विभाग के कार्यपालन यंत्री एचएस बामनिया को सख्त लहजे में आदेशित किया कि वे बिना परीक्षण के इन कार्यो का भुगतान संबंधित ठेकेदार को नही करेंगे। अन्यथा  स्थिति में संबंधित राशि की वसूली उनसे की जायेगी।

साथ ही कलेक्टर ने मौके पर उपस्थित एसडीएम बड़वानी घनश्याम धनगर को भी निर्देशित किया कि नल-जल योजना से संबंधित जितनी भी शिकायते ग्रामीणों से प्राप्त हुई है, उनका विस्तृत निरीक्षण राजस्व अमले की उपस्थिति में कराकर प्रतिवेदन प्रस्तुत करे। जिससे दोषियों पर कठोर कार्यवाही प्रस्तावित की जाये।

 

Next Post

नवजात के नाखून होते हैं कोमल

नवजात के नाखूनों की देखभाल करने की विशेष जरूरत हैं, क्योंकि यदि आपने इन पर ध्यान नहीं दिया तो इसमें जमा गंदगी के कारण बच्चे को संक्रमण हो सकता है। संक्रमण के कारण बच्चे का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। बच्चों के नाखूनों की देखभाल के लिए जरूरी है हाथों […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।