नगर निगम के आला अधिकारिओं का नहीं है कोई टाइम टेबल, लंच के बाद ही कामकाज शुरू

News Desk

भोपाल
नगर निगम के अधिकतर आला अधिकारी सुबह की पहली शिफ्ट में दफ्तर से नदारद रहते हैं। निगम आयुक्त से लेकर कार्यपालन यंत्री सब अपनी मनमर्जी से कार्यालय आते-जाते हैं। कुछ अफसर ऐसे भी हैं जिनका चेहरा तक लोगों ने नहीं देखा। माता मंदिर स्थित निगम मुख्यालय, शाहपुरा स्थित भवन अनुज्ञा शाखा और सभी जोन कार्यालयों में अफसरों यह आदत लोगों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है। आपको जानकर हैरत होगी कि निगम के आला अधिकाारियों का कार्यालय आने का यह रवैया काफी पुराना है। कुछ एक अफसर दफ्तर लंच के बाद ही पहुंचते हैं और चेहरा दिखने की रस्मदायगी करके गायब हो जाते हैं। निगम कार्यालयों में लंच के बाद ही असली कामकाज शुरू होता है।

प्रशासक कवींद्र कियावत, निगम आयुक्त वीएस चौधरी कोलसानी, अपर आयुक्त पवन कुमार सिंह, अपर आयुक्त एजे इक्का, उपायुक्त हर्षित तिवारी, विनोद कुमार शुक्ला, सहायक आयुक्त विजय तिवारी, मुख्य नगर निवेषक विजय सवालकर, अधीक्षण यंत्री पीके जैन, सिटी इंजीनियर ओपी भारद्वाज, पूर्व प्रभारी अधीक्षण यंत्री एआर पवार, स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संध्या नायर, कार्यपालन यंत्री आरके सक्सेना आदि कार्यालय से अक्सर गायब रहते हैं। बीच में चेहरा दिखाकर रस्मदायगी करके दिनभर के लिए गायब हो जाते हैं।
 
नगर निगम आयुक्त वीएस चौधरी कोलसानी कार्यालय से अक्सर नदारद रहते हैं। अपर आयुक्त एजे इक्का घर से काम करते हैं, कार्यालय नहीं जाते। इनका काम अमित मैथ्यू और एक दैवेभो कर्मचारी करता है। अपर आयुक्त पवन कुमार सिंह को 2 आॅफिस मिले हैं। इसलिए यह कब कहां बैठते हैं, इसकी जानकारी किसी को नहीं रहती। उपायुक्त विनोद कुमार शुक्ला नगरीय प्रशासन आॅफिस और मीटिंग में बिजी रहने के कारण कार्यालय से नदारद रहते हैं।  

उपायुक्त हर्षित तिवारी सुबह पहली शिफ्ट में कहां रहते पता नहीं, लेकिन सेकेंड हाफ में सीट पर बैठते हैं। पूर्व अधीक्षण यंत्री सविंदा कर्मी एआर पवार सुबह यह भी गायब रहते हैं, लेकिन लंच के बाद कार्यालय पहुंचते हैं। कार्यपालन यंत्री आरके सक्सेना दिनभर गायब रहते हैं और फोन नहीं उठाते। स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संध्या नायर कार्यालय से नदारद रहती है। 

Next Post

वसुंधरा समर्थक बीजेपी विधायक गहलोत के बचाव में, कहा- सरकार गिराने की साजिश गलत

राजस्थान  पिछले कुछ दिनों से राजस्थान में राजनीतिक उठापटक को लेकर कुछ न कुछ खबरें आ ही रही हैं. अब तक कांग्रेस के अंदर फूट की बात कही जा रही थी. लेकिन अब पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के करीबी विधायक कैलाश मेघवाल ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।