कमलनाथ बोले, BJP वाले चांद पर घोटाला कर दें

News Desk

भोपाल
कमलनाथ की सरकार ने आखिर के 6 महीने में जो फैसले लिए हैं, उसकी शिवराज सरकार जांच करवा रही है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि किसान कर्ज माफी में बड़ा घोटाला हुआ है। यह सदी का सबसे बड़ा घोटाला है। वहीं, पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी बीजेपी के आरोपों पर जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि घोटालेबाजों को हर चीज में घोटाला ही नजर आता है। उनका बस चले तो वे सूरज-चांद में भी घोटाला कर दें।

बचे हुए किसानों का कर्ज करें माफ
कमलनाथ ने यह भी कहा कि सरकार किसान कर्ज माफी की जांच कराए, लेकिन बचे हुए किसानों का भी कर्जा माफ करे। उन्होंने कहा कि जो किसानों की कर्ज माफी रोकने के दोषी हैं, वे लोग घोटाले का आरोप लगाकर कर्ज माफी से बचना चाहते हैं। जिन्होंने अन्नदाता किसानों को ऋण देने में घोटाला किया वे लोग घोटाले की बात कर रहे हैं।

सारे रेकॉर्ड हैं
बीजेपी के आरोपों पर कमलनाथ ने यह भी कहा है कि पहले चरण में 21 लाख से अधिक किसानों का कर्ज माफ हुआ है। दूसरे चरण में 1 लाख रुपये तक के ऋण वाले किसानों का कर्ज माफ होना था, जिसमें लगभग 6 लाख किसानों का कर्जा माफ हो रहा था। तीसरा चरण जून 2020 तक पूरा होना था। उन्होंने कहा कि कर्ज माफ हुए किसानों की सूची और पता सब सरकार के पास है। वे चाहें तो जांच कर लें।

बीजेपी है दोषी
कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में बचे हुए किसानों का कर्ज माफ नहीं हुई तो इसके लिए बीजेपी दोषी होगी। किसानों ने कांग्रेस को वोट दिया था, कांग्रेस ने उन्हें कर्ज माफी का वचन दिया था। बीजेपी ने चुनी हुई सरकार को गिराकर प्रदेश की जनता के साथ धोखा किया है। उपचुनाव में इसका जवाब मिल जाएगा।

मजदूरों पर राजनीति
उन्होंने कहा कि बेबस मजदूरों के नाम पर मध्यप्रदेश में सिर्फ राजनीति हो रही है। कमलनाथ ने कहा कि प्रियंका गांधी ने मजदूरों के लिए यूपी में बसें भेजी हैं। इस मामले में पीएम और गृह मंत्री हस्तक्षेप करें। सीएम शिवराज सिर्फ ढिंढोरा पीट रहे हैं, मजदूर प्यासे और नंगे पैर संघर्ष कर रहा है।

Next Post

नौतपा की शुरुआत से पहले ही चढ़ा पारा, सात दिन खूब तपने के बाद 2 दिन मिलेगी राहत

भोपाल सूर्य के 25 मई को रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करते ही नौतपा की शुरुआत हो जाएगी. मध्य प्रदेश में हर साल की तरह इस बार भी नौतपा में पारा खूब चढ़ेगा. नौतपा के नो दिनों में से सात दिनों में तापमान में इज़ाफ़ा होने के साथ लू चलने के […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।