एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनों के संचालन की मंजूरी, मिली 28 मेल

News Desk

भोपाल
शहरों के कोविड अनलॉक होने के साथ ही रेलवे ने भी टेÑनों के अनलॉक की प्रक्रिया तेज कर दी है। विभिन्न जोनों एवं रेल मंडलों में टेÑनों क ी डिमांड बढ़ गई है। इसी को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने पिछले 18 दिनों में डब्लयूसीआर की 28 मेल, एक्सपे्रस एवं स्पेशल टेÑनों को हरी झंडी दे दी है। वहीं, देशभर में 660 टेÑनों को अनुमति दी जा चुकी है।

गौरतलब है कि अप्रैल महीने के अंंतिम सप्ताह में टेÑनों की डिमांड इतनी घट गई थी कि रेलवे को विभिन्न रूटों की टेÑनों को यात्रियों के अभाव में कैंसिल करना पड़ा था, लेकिन अब फिर से टेÑनों की डिमांड बढ़ गई है। ऐसे में रेलवे बोर्ड ने पिछले 18 दिनों में वेस्ट सेंट्रल रेलवे जोन पर चलने वाली 28 मेल, एक्सप्रेस एवं स्पेशल टेÑनों को संचालन हेतुअनुमति दे दी है और टेÑनों की अनुमति अंडर प्रोसेस में है। रेलवे के अफसरों का कहना है कि जैसे-जैसे टेÑनों की डिमांड बढ़ती जाएगी। वैसे-वैसे चरणबद्ध तरीके से इनका संचालन शुरू किया जा सकेगा।

सीपीआरओ राहुल जयपुरियार ने बताया कि अभी तक देशभर में कोविड अनलॉक के पहले 800 मेल, एक्सपे्रस एवं स्पेशल टेÑनें ही टैÑक पर दौड़ रहीं थीं, लेकिन अब अनलॉक के बाद 660 टेÑनों में और इजाफा किया गया है इनमें से भोपाल, जबलपुर एवं कोटा रेल मंडल की 30 मेल, एक्सपे्रस एवं स्पेशल टेÑनें भी शामिल हैं। इसके अलावा अन्य रूटों के टेÑनों की जल्द पटरी पर लौटने की संभावना है।

Next Post

अगर सूर्य की रोशनी घर के इस तरफ पड़ रही है तो मिलेंगे शुभ फल

ज्योतिष शास्त्र में तो ग्रहों के बारे में पढ़ने सुनने को मिलता ही हैं परंतु वास्तु शास्त्र में भी इनके बारे में वर्णन मिलता है ये बहुत कम लोग जानते हैं। इसमें बताया गया है कि घर बनवाते समय ग्रहों का भी ध्यान रखना बहुत ज़रूरी होता है। ज्योतिष शास्त्र […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।