इंदौर क्राइम ब्रांच ने तीन शराब तस्कर को गिरफ्तार

News Desk

इंदौर
 बीते दिनों इंदौर (indore) के अलावा कई शहरो में जहरीली शराब  से हुई मौतों के बाद इंदौर पुलिस (indore police) ने अवैध शराब का कारोबार करने वालों की धरपकड़ शुरू कर दी है। इसी क्रम में इंदौर क्राइम ब्रांच ने बड़ी कार्रवाई करते हुए दिल्ली से इंदौर लाकर अवैध शराब बेचने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पकड़े गए आरोपियो से पांच पेटी अंग्रेजी ब्रांड की शराब जब्त की है।

 

दरसअल, इंदौर क्राइम ब्रांच को मुखबिर से सूचना मिली थी कि इंदौर के एक ट्रांसपोर्ट पर अवैध शराब का कारोबार चल रहा है। सूचना पर इंदौर क्राइम ब्रांच द्वारा एक टीम गठित कर ट्रांसपोर्ट पर छापामार कार्रवाई की गई तो पुलिस को पता चला कि आरोपी शराब को ट्रांसपोर्ट से स्टेशनरी के नाम पर बुक कर दिल्ली से इंदौर लाते थे। पुलिस ने बताया कि केपिटल इंडिया लाजिस्टिक ट्रान्सपोर्ट द्वारा सांवेर रोड पर स्टेशनरी की बिल्टी चालान बनाकर अवैध शराब की तस्करी की जा रही है।

सूचना पर क्राईम ब्रांच की टीम मौके पर पहुंची तो जितेन्द्र भोज, चंदन कौचल और गोविन्द नामक युवक मिले। एडिशनल एसपी क्राइम ब्रांच गुरुप्रसाद पाराशर के मुताबिक आरोपियों से प्लास्टिक के पैकेट पर नम्बर के बारे में पूछने पर बताया गया यह स्टेशनरी है, यह माल दिल्ली से आया है। जब पैकेट को खुलवाया गया तो उसमे 5 पेटी अंग्रेजी ब्रांड की शराब निकली। जिस पर पुलिस ने शराब के सैंपल को टेस्टिंग के लिए भिजवाया। क्राइम ब्रांच को अंदेशा है कि यह शराब नकली भी हो सकती है।

गौरतलब है कि आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उनसे उनके साथियों के बारे में पूछताछ की जा रही है। पुलिस को आशंका है कि इस मामले में कई और कड़िया जुड़ सकती है।

Next Post

जबलपुर पुलिस ने 5 शातिर गाड़ी चोरो को किया गिरफ्तार

जबलपुर  जबलपुर पुलिस को आज चोरों को पकड़ने में बड़ी सफलता हासिल हुई है। जबलपुर पुलिस ने कई चोरियों का खुलासा करते हुए 3 चोर और 2 चोरी का माल खरीदने वालों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने चोरों के पास से लाखों रुपयों का माल भी बरामद किया है। […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।