श्रीलंका के नागरिकों के चेहरों पर क्रिकेट ने लाई खुशी

News Desk

नई दिल्ली
इन दिनों श्रीलंका लगातार आर्थिक संकट से जूझ रहा है। वहां के लोग भोजन ईंधन सहित बाकी चीजों की कमी का सामना कर रहे हैं ऐसे में आस्ट्रेलिया के कारण न केवल वहां के लोगों के चेहरे पर मुस्कान आई है बल्कि बाकी समस्या को भी कम करने में मदद मिली है। एक तरफ क्रिकेट में आस्ट्रेलिया के खिलाफ श्रीलंका को 30 साल बाद सीरीज में जीत मिली है दूसरी तरफ आस्ट्रेलियाई सरकार ने आर्थिक समस्या से जूझ रहे श्रीलंका के लिए 50 मिलियन अमेरिकी डालर की मदद करने का एलान किया है। इससे तत्काल भोजन और स्वास्थ्य देखभाल की जरूरतों को पूरा किया जाएगा।

पहले बात कर लेते हैं श्रीलंका के दर्शकों के चेहरों पर मुस्कान लाने की तो प्रेमदासा स्टेडियम में आस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच चल रहे वनडे सीरीज के चौथे मैच में वो हुआ जिसने वहां के उदास चेहरों पर खुशियां बिखेर दी। चौथे मैच में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए आस्ट्रेलिया के सामने 259 रनों का लक्ष्य रखा लेकिन आस्ट्रेलिया की पूरी टीम केवल 254 रन बनाकर आल आउट हो गई है और श्रीलंका ने यह मैच 4 रन से जीत लिया है। इस जीत के साथ ही श्रीलंका ने 30 साल बाद अपनी जमीन पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीती है। इस जीत ने न केवल श्रीलंका के क्रिकेट फैंस बल्कि पूरे श्रीलंका में खुशी की लहर है।

श्रीलंका के कप्तान दसुन शनाका का भी यही मानना है। उन्होंने जीत के बाद कहा कि "यह केवल मेरे, मेरे साथी खिलाड़ी या फिर श्रीलंका क्रिकेट की नहीं बल्कि पूरे देश के लिए एक जरूरी पल है जिसकी जरुरत थी। मुझे लगाता कि यह जीत पूरे देश को सेलिब्रेट करनी चाहिए।"

Next Post

मुख्यमंत्री चौहान ने तीन बच्चों की मृत्यु पर किया दु:ख व्यक्त

भोपाल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बालाघाट जिले के ग्राम संतापुर में तालाब में डूबने से तीन बच्चों की असामयिक मृत्यु पर दु:ख व्यक्त किया है। उन्होंने शोकाकुल परिजन के प्रति संवेदनाएँ व्यक्त की हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को शांति देने और शोकाकुल परिजन को यह […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।