रणजी ट्रॉफी फाइनल पहले दिन मुंबई की आधी टीम पवेलियन लौटी

News Desk

भोपाल

रणजी ट्रॉफी के फाइनल में 23 साल बाद इतिहास रचने उतरी मध्यप्रदेश क्रिकेट टीम के सामने पहले दिन मुंबई ने 5 विकेट गंवाकर 248 रन बनाए। मध्यप्रदेश के लिए सारांश जैन और अनुभव अग्रवाल ने 2-2 विकेट लिए। कार्तिकेय सिंह को भी एक विकेट मिला। मुंबई के लिए सबसे ज्यादा 78 रन यशस्वी जायसवाल ने बनाए। अपनी पारी में उन्होंने 7 चौके और 1 सिक्स भी लगाया। उन्हें यश दुबे के हाथों अनुभव अग्रवाल ने आउट कराया।

इससे पहले बेंगलुरु में खेले जा रहे रणजी फाइनल में 41 बार की चैम्पियन मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया। मुंबई की ओर से पहले विकेट के लिए कप्तान पृथ्वी शॉ ने यशस्वी जयसवाल के साथ मिलकर 87 रन जोड़े। पृथ्वी ने 5 चौके और 1 छक्के की मदद से 47 रन बनाए। अनुभव ने पृथ्वी को बोल्ड कर अर्धशतक बनाने से रोक दिया।

इसके बाद यशस्वी ने अरमान के साथ दूसरे विकेट के लिए 33 रन जोड़े। अरमान 26 रन पर कार्तिकेय का शिकार बने। एक तरफ यशस्वी क्रीज पर जमकर खेल रहे थे, हालांकि उन्हें दूसरे छोर से बल्लेबाजों का साथ नहीं मिला। दिन का खेल खत्म होने तक मुंबई ने 90 ओवर में 5 विकेट गंवाकर 248 रन बना लिए थे। टीम के लिए अरमान जाफर (26), सुवेद पारकर (18) और हार्दिक तमोरे (24) ने छोटी-छोटी पारिया खेलीं। फिलहाल एसएन खान (40*) और एसजेड मुलानी (12*) क्रीज पर हैं।

Next Post

उज्‍जैन: मोबाइल गेम डिलीट करने पर मां से नाराज हुआ किशोर, उठाया ऐसा कदम की करनी पड़ी पुलिस से शिकायत

उज्‍जैन चिमनगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला 15 वर्षीय किशोर मोबाइल पर फ्री फायर गेम खेलने का आदी है। वो कक्षा आठ में पढ़ता है। उसकी मां ने दो दिन पहले ही मोबाइल से गेम को डिलीट कर दिया था। इस बात से वह इतना नाराज हो गया कि मंगलवार […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।