नहीं खत्म हुई भगवंत मान और गवर्नर के बीच रार, अब राज्यपाल बोले- लगता है मुझसे नाराज हो

News Desk

चंडीगढ़
पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और मुख्यमंत्री भगवंत मान के बीच जुबानी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है। शनिवार को राज्यपाल बनवारीलाल ने सीएम को पत्र लिखकर कह डाला, आज के अखबार को पढ़कर ऐसा लगा कि आप मुझसे नाराज हैं। सीएम मान को लिखे पत्र में राज्यपाल ने अनुच्छेद 167 और 168 के प्रावधानों की भी याद दिलाई। जानिए, राज्यपाल ने क्या लिखा…

पंजाब में बहुमत परीक्षण के लिए एक दिवसीय विधानसभा सत्र बुलाने और राज्यपाल की ना के बाद सीएम भगवंत मान और राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। हालांकि राज्यपाल एकदिवसीय विधानसभा सत्र के लिए 27 सितंबर के लिए हामी भर चुके हैं। शुक्रवार को उन्होंने विधानसभा सचिव से सत्र में उठाए जाने वाले विधायी कार्यों का ब्योरा देने को कहा था।

जवाब में सीएम भगवंत मान ने ट्वीट करते हुए राज्यपाल पर हमला बोला।, कहा, "विधायिका के किसी भी सत्र से पहले राज्यपाल की सहमति एक औपचारिकता है। 75 वर्षों में, किसी भी राज्यपाल ने सत्र बुलाने से पहले कभी भी विधायी कार्यों की सूची नहीं मांगी। विधायी कार्य बीएसी (बिजनेस एडवाइजरी काउंसिल) और स्पीकर द्वारा तय किया जाता है। अगली बार राज्यपाल सभी भाषणों को भी अपने द्वारा अनुमोदित करने के लिए कहेंगे तो यह तो ज्यादा है।"

राज्यपाल ने पत्र लिखकर दिया जवाब
शनिवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में राज्यपाल ने इसका जवाब देते हुए सीएम पंजाब को लिखा, "आज के अखबारों में आपके बयान पढ़ने के बाद, मुझे ऐसा प्रतीत होता है कि शायद आप मुझसे 'बहुत ज्यादा' नाराज हैं। मुझे लगता है कि आपके कानूनी सलाहकार आपको पर्याप्त जानकारी नहीं दे रहे हैं। शायद मेरे बारे में आपकी राय संविधान के अनुच्छेद 167 और 168 के प्रावधानों को पढ़ने के बाद निश्चित रूप से बदल जाएगी।"

क्या है अनुच्छेद 167
अनुच्छेद 167 कहता है कि राज्यपाल को सूचना देने की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री की होगी। मुख्यमंत्री के क्या कर्तव्य हैं- 167 (ए) के मुताबिक, राज्य के मामलों में प्रशासन और कानून के प्रस्तावों से संबंधित मंत्रिपरिषद के सभी निर्णयों को राज्य के राज्यपाल को सूचित करना। (बी) के अनुसार, राज्य के मामलों के प्रशासन और कानून के प्रस्तावों से संबंधित ऐसी जानकारी प्रस्तुत करने के लिए जो राज्यपाल मांगे।

 

Next Post

कोल इण्डिया अंतर कम्पनी टेबल टेनिस प्रतियोगिता में एसईसीएल बनी टीम चैम्पियन

बिलासपुर एनसीएल के अमलोरी में सम्पन्न कोल इंडिया अंतर कम्पनी टेबल टेनिस में एसईसीएल टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए टीम स्पर्धा अपने नाम कर लिया है। टीम स्पर्धा के अतिरिक्त, एसईसीएल कुसमुंडा में कार्यरत श्री सुशांत बोरवनकर, मेंस सिंगल में उपविजेता रहे वहीं मेंस डबल्स श्रेणी में एसईसीएल मुख्यालय […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।