कांग्रेस नेत्री नूरी खान ने सरकार से डांडिया आयोग खोलने की की मांग

News Desk

उज्जैन
 अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) पर मध्यप्रदेश (MP) में योग आयोग (yoga commission) का गठन करने का निर्णय लिया गया था। दरअसल इसके लिए आदेश भी जारी कर दिया गया। अब जारी आदेश पर एक बार फिर से विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल योग आयोग के गठन के बाद कांग्रेस नेत्री और महिला कांग्रेस की सीनियर वाइस प्रेसिडेंट नूरी खान (Noori khan) ने योग आयोग पर सवाल उठा दिए हैं। वहीँ उन्होंने सरकार से अजीबोगरीब मांग कर दी है।

नूरी खान ने कहा कि प्रदेश में पीड़ित लोगों को न्याय नहीं मिल रहा है और प्रदेश सरकार योग आयोग का गठन कर रहे हैं। नूरी खान ने शिवराज सरकार को सलाह दी है कि अब उन्हें एक डांडिया आयोग भी खोल लेना चाहिए।सलाह देते हुए नूरी खान ने कहा कि सेहत के लिए डांडिया खेलना भी काफी अच्छा है। इसलिए प्रदेश में डांडिया योग्य खोला जाना चाहिए।

वही यह बयान ऐसे समय में आया है, जब खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उज्जैन में है। ट्वीट करते हुए नूरी खान ने कहा कि एक तरफ प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग- महिला आयोग और तमाम आयोग को ताला लगाकर पीड़ित लोगों को न्याय दिलाने से रोका जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ योग आयोग गठित कर प्रदेश सरकार आखिर क्या साबित करना चाहती है।

ज्ञात हो कि आठवीं अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छात्रों के लिए बड़े ऐलान किए थे। सीएम हाउस में छात्रों को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज ने कहा था कि मध्यप्रदेश में योग आयोग बनाया जाएगा। जिसमें सभी बच्चों को योग का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

Next Post

प्रेग्‍नेंसी के दौरान होने वाले ब्लड प्रेशर ना करें नज़र अंदाज

मां बनना हर महिला का सपना होता है। शिशु जो शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ हो। उसे जन्म देना मां का सौभाग्य होता है, लेकिन वर्तमान समय में एक स्वस्थ शिशु को जन्म देने के लिए बहुत सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। आजकल परिवेश बदल चुका […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।