महाराष्ट्र में पिछले चार दिन से चल रहे पॉलिटिकल ड्रामे का आज अंत.. मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने अपने पद से इस्तीफा दिया..

Dilshad Ali

मुम्बई। महाराष्ट्र में पिछले चार दिन से चल रहे पॉलिटिकल ड्रामे का आज अंत हो गया। सूबे के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उनसे कुछ देर पहले डिप्टी सीएम अजीत पवार ने भी इस्तीफा दे दिया है। विधायकों की जादुई संख्या न जुटा पाने के कारण फ्लोर टेस्ट में फजीहत से बचने फड़नवीस ने यह कदम उठाया है। प्रेस कांफ्रेंस में इस्तीफे का ऐलान करते हुए फड़णवीस ने कहा कि उनके पास बहुमत नहीं है, वो इस्तीफा देने जा रहे हैं। फड़णवीस ने गठबंधन को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उम्मीद है कि वो अच्छी तरह से सरकार चलायेंगे। उन्होंने निशाना साधते हुए कहा कि ये दल सिर्फ सत्ता के लिए साथ आये हैं।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने आज सुबह अपने फैसले में कल शाम को विधानसभा में विधायकों का फ्लोर टेस्ट करने का आदेश दिया था। जबकि, राज्यपाल ने सरकार को 30 नवंबर तक की मोहलत दी थी बहुमत साबित करने के लिए। राज्य सरकार की कोशिश भी यही थी कि किसी तरह कुछ और समय मिल जाए। लेकिन, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद प्रदेश की राजनीति 180 डिग्री टर्न कर गई। वैसे भी कल शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने मुंबई के हयात होटल में 163 विधायकों का मीडिया के सामने परेड कराया था। इसके बाद ही भाजपा नैतिक दवाब में आ गई थी। क्योंकि, उसके पास विधायकों का जादुई संख्या नहीं थी।

अजित को मनाने के लिए एनसीपी की ओर से हर कोशिश की जा रही थी। मंगलवार सुबह अजित पवार की सुप्रिया सुले के पति सदानंद से मुलाकात की खबरें थीं और तभी से कहा जा रहा था कि वह शरद पवार के खेमे में वापस लौट सकते हैं। दिल्ली में संसद सत्र के इतर पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा के बीच भी एक मुलाकात हुई। माना जा रहा है कि इस मीटिंग में महाराष्ट्र के हालात को लेकर बात हुई, जिसके बाद ही फड़णवीस के इस्तीफे के संकेत मिले।

Next Post

राजधानी में आधा दर्जन से अधिक स्टील कारोबारी के घर ऑफिस में इनकम टैक्स की रेड..150 अफसरों की टीम की कार्रवाई..

रायपुर। आयकर अधिकारियों की बड़ी टीम ने आज रायपुर-बिलासपुर में स्टील सरिया व लोहा के बड़े कारोबारी के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। इनकम टैक्स के सूत्रों के अनुसार राजधानी के नामी पंकज इस्पात, सागर टीएमटी पर इनकम टैक्स का छापा पड़ा है। पंकज इस्पात और सागर टीएमटी के […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।