बेंगलुरु: मशहूर शिक्षण संस्थानों पर IT विभाग का शिकंजा, कई ठिकानों पर मारी रेड

News Desk

बेंगलुरु
आयकर विभाग ने बेंगलुरु में कई प्रतिष्ठित निजी शिक्षण संस्थानों पर शिकंजा कसा है। आयकर विभाग की टीम बेंगलुरु में निजी शिक्षण संस्थानों के दफ्तरों और भवनों पर छापेमारी की। समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक, आयकर विभाग के अधिकारी सुबह से ही श्री कृष्णदेवराय शिक्षा संस्थान, रेवा विश्वविद्यालय और दिव्यश्री संस्थान के अलावा अन्य संस्थानों पर बेंगलुरु में छापेमारी की। सभी संस्थानों पर एक साथ छापेमारी की गई। कारपोरेट कार्यालयों और शिक्षण संस्थानों की इमारतों पर 10 से अधिक स्थानों पर छापेमारी की गई। सूत्रों ने कहा कि कर्नाटक और गोवा क्षेत्र से आयकर अधिकारियों की एक टीम ने छापेमारी की। कार्रवाई में आयकर विभाग के 250 अधिकारियों की टीम शामिल थी।

क्यों हुई छापेमारी?
दरअसल, इन शिक्षण संस्थानों के खिलाफ आयकर विभाग को कई शिकायतें मिली थी। कई संस्थान विदेशी छात्रों से मोटी फीस वसूल रहे थे। ऐसा कर संस्थान सीटों को ब्लाक कर रहे थे। इनके खिलाफ टैक्स चोरी की भी शिकायतें मिली थी।

Next Post

विधायकों की बगावत के बारे में क्‍यों नहीं थी हमारे पास इंटेलीजेंस- शरद पवार

मुंबई महाराष्ट्र में महा विकास आघाड़ी सरकार में शिवसेना के विधायकों की बगावत की सूचना गृह मंत्रालय और इंटेलीजेंस डिपार्टमेंट की ओर से न दिए जाने पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार काफी नाराज है। उन्होंने गृह मंत्री दिलीप वाल्से और एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।