छत्तीसगढ़ में रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल द्वारा रोबोट असिस्टेड सर्जरी का शुभारंभ…

HUNTER NEWS

रायपुर

रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल द्वारा  रोबोट असिस्टेड सर्जरी का शुभारंभ किया जा रहा है। इसे सबसे अत्याधुनिक सर्जरी माना गया है। ये तकनीक केवल छत्तीसगढ़ नही बल्कि सारे मध्यभारत में पहली  तकनीक होगी जहां एक्स्पर्ट किसी रोबोट के माध्यम से सर्जरी करेंगे , लेपेरोस्कोपिक सर्जन, डॉ. संदीप दवे ने मध्यभारत की प्रथम उपलब्धियों एवं नव-प्रवर्तनों के अनन्तर  एक नये अध्याय, रोबोटिक सर्जरी का प्रारंभ करने के साथ प्रदेश में एक नई क्रांति लाने का प्रयास किया है। रोबोटिक सर्जरी, मिनीमली इन्वेसिव सर्जरी जिसमें बिना किसी चीर-फाड़ के दूरबीन के माध्यम से ऑपरेशन किया जाता है  जिसमें ऑपरेशन किये जाने वाले भाग का एक त्रियामी तथा अवर्धित प्रतिबिम्ब कैमरे के माध्यम से मॉनीटर पर दिखाई देता है।  रोबोटिक सर्जरी सर्जन बिना किसी थकान के अधिक परिशुद्धता के साथ सर्जरी की संपूर्ण प्रक्रिया संपन्न कर लेते है। दो वर्ष पूर्व के आंकड़ों के अनुसार अमेरिका में 2500, यूरोप में 500, जापान में 200, दक्षिण कोरिया में 100 और भारत में मात्र 50 रोबोटिक सर्जरी की मशीनें कार्यरत थी।

रामकृष्ण केयर हाॅस्पिटल का लक्ष्य, अत्याधुनिक टेक्नालाॅजी के साथ, छत्तीसगढ़ व आस-पास के  जनता को उचित खर्च पर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना है। रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी के माध्यम से मरीजों को अत्याधुनिक टेक्नालाॅजी के साथ ही स्पेशलिस्ट लेप्रोस्कोपिक सर्जन्स डॉ. संदीप दवे, डॉ. जव्वाद नकवी, डॉ. सिद्धार्थ तामस्कर एवं डॉ. विक्रम शर्मा की टीम के  द्वारा और  बेहतर केयर मिलेगी। रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी सिस्टम की शुरूआत पर रामकृष्ण केयर हाॅस्पिटल के मैनेजिंग एवं मेडिकल डायरेक्टर डॉ. संदीप दवे के साथ निलेश गुप्ता, एवीपी ऑपरेशन भी उपस्थित थे। डॉ. दवे ने कहा कि रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी अपनी अत्याधुनिक टेक्नोलाॅजी व चिकित्सा सुविधाओं के कारण पूरी दुनिया में, लोकप्रिय हो चुकी है।  रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी की खासियत यह है कि, यह सर्जन को, ऑपरेशन किये जाते समय, 3डी एच.डी. विजन के द्वारा शरीर के अंदर के ऑर्गन्स की स्पष्ट स्थिति बतलाती है, जिससे सर्जरी में आसानी होती है। रोबोटिक सर्जरी में, कोलोरेक्टल सर्जरी-कोलन व रेक्टम की एसोफेगल कैंसर, एसोफेगेक्टॉमी, गाइनेकोलाॅजिकल कैंसर-सर्वाइकल कैंसर, ओवेरियन कैंसर, यूटेराइन कैंसर तथा पेट की सभी प्रकार की सर्जरी, छोटी एवं बड़ी आंत के कैंसर की सर्जरी, प्रोस्टेट सर्जरी, बैरियाट्रिक/मोटापे की सर्जरी, बच्चेदानी के कैंसर की सर्जरी, थोरेसिक  की सर्जरी आदि की सटीक व सुरक्षित सर्जरी की जाती है। यह तकनीक रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल के सर्जन्स को सजरी में सफल परिणाम दिलानें में सहायक रहेगी।

 

Next Post

खाद्य विभाग में तकनीकी सलाहकार रखेगी सरकार, योजनाओं के क्रियान्वयन की जिम्मेदारी

भोपाल खाद्य विभाग की जनकल्याणकारी योजनाओं के सफल क्रियान्वयन के लिए राज्य सरकार पैंतालिस लाख रुपए में तकनीकी सलाहकार की तैनाती करेगी।यह तकनीकी सलाहकार खाद्य संचालनालय और नागरिक आपूर्ति  निगम के लिए  एंड टू एंड डिजिटल इंट्रीगेशन कार्य और संस्था स्तर पर प्रस्तावित कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के काम के […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।