शेयर बाजार की तेज रफ्तार पर लगी ब्रेक, सेंसेक्स 398 अंक लुढ़का; निफ्टी में भी भारी गिरावट

News Desk

नई दिल्ली
पिछले दो दिनों के दौरान शेयर बाजार में रौनक छाई थी। लेकिन आज फिर एक बार निवेशकों के चेहरे पर मायूसी है। बुधवार को शुरुआती कारोबार में 30 संवेदी सूचकांक वाले सेंसेक्स में 398.32 क या 0.76% गिरावट देखने को मिली। आज सुबह सेंसेक्स 52133.75 पर खुला। वहीं, निफ्टी में भी सुबह-सुबह 118.65 अंक या 0.76% की गिरावट देखने को मिली है। निफ्टी आज सुबह 15520.15 अंक पर खुला।

 
निफ्टी में सुबह एशियन पेंट्स के शेयर सबसे तेज उछाल के साथ कारोबार कर रहे थे। ब्रिटानिया, बजाज-ऑटो, एचडीएफसी के शेयर भी शुरुआती कारोबार में बढ़त बनाए हुए हैं। दूसरी तरफ हिंडाल्को के शेयरों में 3.91 की गिरावट शुरुआती कारोबार में देखने को मिली।  सेंसेक्स में बुधवार की सुबह डाॅ रेड्डी के शेयरों में सबसे अधिक तेजी देखी गई। हिंदुस्तान यूनिलीवर, टीसीएस, एशियन पेंट्स, मारुति के शेयर भी सुबह बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे। टाटा स्टील, बजाज सहित कई अन्य कंपनियों ने आज सेंसेक्स में खराब शुरुआत की है।

कल का हाल

शेयर बाजारों में मंगलवार को भारी उछाल के साथ निवेशकों की संपत्ति 5.77 लाख करोड़ रुपये से अधिक बढ़ गई। वैश्विक बाजारों में तेजी और भारी लिवाली से स्थानीय बाजार में मजबूती आई थी। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 934.23 अंक यानी 1.81 प्रतिशत चढ़कर 52,532.07 अंक पर बंद हुआ था। इसके साथ बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 5,77,006.83 करोड़ रुपये बढ़कर 2,40,63,930.50 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

Next Post

एकनाथ शिंदे ने किया 40 शिवसेना विधायकों के समर्थन का दावा

गुवाहाटी  महाराष्ट्र के दिग्गज नेता और कभी मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार एकनाथ शिंदे एंड टीम की बगावत से उद्धव ठाकरे सरकार(Maharashtra Political Crisis) गिरने की स्थिति में है। राष्ट्रपति चुनाव(President Election 2022) से ठीक पहले महाराष्ट्र सरकार संकट में है। MLC चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद शिवसेना के […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।