तकनीकी शिक्षा विभाग करेगा विद्यार्थियों को कैम्पस प्लेसमेंट के लिये तैयार

News Desk

भोपाल

प्रदेश के इंजीनियरिंग और पॉलीटेक्निक विद्यार्थियों को तकनीकी शिक्षा विभाग रिक्रूटमेंट के लिये आने वाली कम्पनियों की आवश्यकता के अनुरूप प्रशिक्षित करेगा। इसी कड़ी में बुधवार को तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने एलीवेट-2022 कार्यक्रम को वेबीनार में लांच किया। इस दौरान सेल्सफोर्स इण्डिया के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट श्री संकेत अटल ने जानकारी दी कि कम्पनी द्वारा लगभग 65 हजार विद्यार्थियों का डाटा सेल्सफोर्स के प्लेटफार्म पर अपलोड किया गया है। उन्होंने बताया कि सेल्सफोर्स द्वारा प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियों तक कैसे पहुँचें, यह सीखने के लिये एलीवेट-2022 कार्यक्रम किया गया।

कैम्पस प्लेसमेंट के लिये विद्यार्थी प्रथम वर्ष से होंगे तैयार

प्रदेश के इंजीनियरिंग और पॉलीटेक्निक कॉलेज के विद्यार्थियों के प्लेसमेंट और स्किलिंग को मजबूत करने के लिये तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा अलग-अलग स्तर पर ट्रेनिंग कराई जायेगी। प्रथम वर्ष में विद्यार्थियों में कम्युनिकेशन स्किल डेव्हलप की जायेगी। दूसरे वर्ष में क्वांटिटिव एप्टीट्यूड और तीसरे वर्ष में लॉजिक रीजनिंग और डिजिटल फ्ल्यूऐंसी की ट्रेनिंग दी जायेगी। फाइनल इयर में ऑर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, मशीन लर्निंग, साइबर सिक्यूरिटी, डेटा एनालिसिस, क्लाउड कम्प्यूटिंग, डिजिटल मार्केटिंग जैसे विषयों की ट्रेनिंग कराई जायेगी।

तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा सभी इंजीनियरिंग और पॉलीटेक्निक कॉलेज को ट्रेनिंग प्रोग्राम तैयार करने को कहा गया है। प्राचार्यों को निर्देशित किया गया है कि वे विद्यार्थियों के परफार्मेंस का रिव्यू कर कैलेण्डर तैयार करें। प्लेसमेंट सेल के लिये टाइम-टेबल में एक घंटा अतिरिक्त स्लाट और स्टूडेंट प्लेसमेंट कम्पनी बनाने के भी निर्देश दिये गये हैं।

 

Next Post

पुलकित आर्य के पिता और भाई को भाजपा ने पार्टी से किया निष्कासित

  हरिद्वार उत्तराखंड में अंकिता भंडारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य और उसके परिवार पर प्रशासन का शिकंजा कसता जा रहा है. पुलकित आर्य के पिता विनोद आर्य और भाई अंकित आर्य को भाजपा ने पार्टी से निष्कासित कर दिया है. इसके साथ ही अंकित आर्य को आयोग के […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।